ALL home uttar pradesh desh khabar videsh khabar khel khabar manoranjan sehat
एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार कर रकम उड़ाने वाले गिरोह में सीबीआई आरक्षक भी शामिल
November 25, 2019 • RAGINI SINGH


कोरबा 25 नवम्बर (आरएनएस)। एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार कर दुसरे के खातों से रकम उड़ाने वाले गिरोह को पुलिस ने पकडऩे में कामयाबी पाई है। दिलचस्प बात यह है की आरोपियों में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो यानी की सीबीआई का एक आरक्षक भी शामिल है। सभी की पड़ोसी राज्य झारखंड के रांची से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने मामले में संलिप्त चार आरोपियों से 8 नग मोबाईल व 5 हजार 680 रूपये जब्त किया है। सभी को पूछताछ के बाद न्यायालय में पेश करते हुए न्यायिक रिमांड पर जिला दाखिल कर दिया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार कुछ माह पहले कटघोरा पुलिस में डुङ्गा के रहने वाले छेदु जायसवाल ने शिकायत दर्ज की थी कि उसके खाते से किसी ने कूटरचना करते हुए 1 लाख 80 हजार की बड़ी रकम पार कर दी है। उन्होंने आशंका जताई थी कि जब वह अपने खाते की जांच करने कटघोरा के एस बी आई परिसर के ए टी एम पहुंचे थे, तभी वहां पहले से मौजूद ठगो ने इस वारदात को अंजाम दिया होगा। इसी तरह इस घटना के आस-पास एक अन्य शख्स को आरोपियों ने अपना शिकार बनाया था। इस बार उनके निशाने पर खुद एक पुलिसकर्मी था। उसके खाते से भी रहस्य्मयी ढंग से करीब 1 लाख 60 हजार रूपये पार कर लिए गए थे। लगातार दो-दो बैंकिंग ठगी के सामने आने से पुलिस के भी कान खड़े हो गए। जिला पुलिस अधीक्षक ने दोनों ही मामलो पर गंभीरता दिखाते हुए साइबर सेल और कटघोरा पुलिस को पड़ताल कर आरोपियों की पतासाजी और गिरफ्तारी के निर्देश दिए थे। इसके पश्चात कटघोरा एस डी ओ पी व प्रभारी रघुनन्दन शर्मा ने इस पूरे मामले पर बारीकी से अनुसंधान शुरू किया
पुलिस ने इसके लिए ए टी एम के सी सी टी वी फुटेज खंगाले। साथ ही आरोपियों के मोबाइल नंबर की भी जानकारी जुटाई। साइबर सेल के प्रभारी दुर्गेश राठौर की मदद से यह जानकारी सामने आई कि आरोपियों का मोबाइल नंबर एक संदिग्ध लेनदेन से जुड़ा हुआ है। आरोपियों ने यह रकम ए टी एम क्लोन के जरिये सुंदरगढ़ एवं झाड़सुगुड़ा के ए टी एम से निकाले थे। इसके पश्चात पुलिस की एक विशेष टीम झारखंड के रांची रवाना की गई। यहाँ पुलिस ने दबिश देते हुए मामले में लिप्त मनोरंजन कुमार, जय भगवान त्रिपाठी, राजीव रंजन तथा सी बी आई आरक्षक रंजीत कुमार को हिरासत में ले लिया। कड़ाई से हुई पूछताछ में सभी ने अपराध कारित करना स्वीकार कर लिया।
इस तरह इस पूरे मामले के भंडाफोड़ में जिला एस पी के निर्देशन, ए एस पी के मार्गदर्शन, डी एस पी मुख्यालय व कटघोरा एस डी ओ पी पंकज पटेल के अगुवाई व थाना प्रभारी रघुनन्दन शर्मा के नेतृत्व में साइबर सेल व कटघोरा थाना के पुलिस स्टाफ  की महत्वपूर्ण भूमिका रही पुलिस ने दोनों ही मामले के पटाक्षेप होने से राहत की सांस ली है।